झारखंड में आरंभ हुई विधवा पुनर्विवाह प्रोत्साहन योजना, दोबारा विवाह करने पर मिलेगा ₹2 लाख का आर्थिक सहयोग

झारखंड मुख्यमंत्री विधवा पुनर्विवाह योजना की शुरुआत एक प्रशंसनीय कदम है जिसे चंपई सोरेन की सरकार ने उठाया है, जो विधवा महिलाओं के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने का एक प्रयास है। यह योजना समाज में विधवाओं की स्थिति में सुधार लाने और उन्हें पुनर्विवाह के लिए प्रोत्साहित करने के लिए देश में अपनी तरह की पहली योजना है।

इस योजना के माध्यम से, झारखंड की विधवा महिलाएं जो पुनर्विवाह करने का निर्णय लेती हैं, उन्हें 2 लाख रुपए की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। इस प्रोत्साहन राशि का उद्देश्य उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान करना है ताकि वे समाज में सम्मान के साथ एक नई शुरुआत कर सकें।

इस योजना के तहत लाभ पाने के लिए, विधवा महिलाओं को निश्चित पात्रता मानदंड और आवश्यक दस्तावेज़ों के साथ आवेदन करना होगा। इसमें उनका राज्य के निवासी होना, पुनर्विवाह निबंधन प्रमाण पत्र, पति के मृत्यु प्रमाण पत्र आदि शामिल हैं।

इस योजना की शुरुआत विधवा महिलाओं के लिए एक उम्मीद की किरण है जो समाज में अपनी स्थिति में सुधार और एक नई शुरुआत की तलाश में हैं। इस योजना से न केवल विधवा महिलाओं को आर्थिक सहायता मिलेगी, बल्कि यह समाज में उनके प्रति नज़रिये में भी सकारात्मक बदलाव लाएगा, जिससे वे सम्मान के साथ अपना जीवन व्यतीत कर सकें।

झारखंड राज्य विधवा पुनर्विवाह सहायता योजना 2024, राज्य की विधवा महिलाओं को पुनर्विवाह के लिए प्रोत्साहित करने और उन्हें वित्तीय सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से शुरू की गई सरकारी पहल है। यह विस्तृत लेख आपको योजना से जुड़ी आवेदन प्रक्रिया, पात्रता मानदंड और लाभों के बारे में मार्गदर्शन करेगा।

झारखंड राज्य विधवा पुनर्विवाह सहायता योजना 2024 की मुख्य विशेषताएं

रांची के टाना भगत स्टेडियम में 6 मार्च 2024 को मुख्यमंत्री चंपई सोरेन द्वारा योजना की शुरुआत की गई। विधवा महिलाओं को पुनर्विवाह पर 2 लाख रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
महिला बाल विकास एवं सामाजिक कल्याण विभाग द्वारा प्रबंधन किया जाएगा। राज्य की विधवा महिलाओं के कल्याण और सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के उद्देश्य से।
उद्देश्य

इस योजना का प्रमुख लक्ष्य विधवा महिलाओं में आत्म सम्मान बढ़ाना, पुनर्विवाह को प्रोत्साहित करना और सकारात्मक सामाजिक प्रथाओं को बढ़ावा देना है। यह विधवा महिलाओं को मुख्यधारा में वापस लाने और उन्हें सम्मानजनक जीवन जीने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करने का लक्ष्य रखती है।

लाभ और विशेषताएं

  • विधवा महिलाओं को पुनर्विवाह करने पर 2 लाख रुपये की वित्तीय सहायता।
  • धनराशि सीधे महिला के बैंक खाते में भेजी जाएगी।
  • पुनर्विवाह का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य।
  • योजना के शुभारंभ पर 7 विधवा महिलाओं को सहायता प्रदान की गई।
  • देश की पहली ऐसी योजना जो विधवा महिलाओं के पुनर्विवाह को प्रोत्साहित करती है।

पात्रता मानदंड

  • आवेदक महिला को झारखंड राज्य का निवासी होना चाहिए।
  • केवल विधवा महिलाएं ही आवेदन के लिए पात्र होंगी।
  • सभी जाति वर्ग की विधवा महिलाएं पुनर्विवाह हेतु आवेदन के लिए पात्र होंगी।
  • आवेदक की उम्र विवाह योग्य होनी चाहिए।

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • विवाह निबंधन प्रमाण पत्र
  • पति का मृत्यु प्रमाण पत्र
  • बैंक पासबुक
  • स्व-घोषणा पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट आकार का फोटो

आवेदन प्रक्रिया

झारखंड राज्य विधवा पुनर्विवाह सहायता योजना 2024 के लिए आवेदन करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  • संबंधित बाल विकास परियोजना अधिकारी के कार्यालय में जाएं।
  • अधिकारी से आवेदन फॉर्म प्राप्त करें।
  • सभी आवश्यक जानकारी को सावधानीपूर्वक भरें।
  • आवेदन फॉर्म के साथ आवश्यक दस्तावेज संलग्न करें।
  • पूर्ण फॉर्म को वापस उसी कार्यालय में जमा करें।
  • सत्यापन के बाद, पात्र आवेदकों को पुनर्विवाह के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

सामान्य प्रश्न

शुभारंभ तिथि और प्रवर्तक: योजना का शुभारंभ 6 मार्च 2024 को मुख्यमंत्री चंपई सोरेन द्वारा किया गया। वित्तीय सहायता: पुनर्विवाह करने वाली पात्र विधवा महिलाओं को 2 लाख रुपये की वित्तीय सहायता मिलेगी।
अपात्रता: आयकर दाता, पेंशनधारी, और सरकारी कर्मचारी इस योजना के लिए पात्र नहीं होंगे।
इस व्यापक अवलोकन में झारखंड राज्य विधवा पुनर्विवाह सहायता योजना 2024 के सभी महत्वपूर्ण पहलुओं को सम्मिलित किया गया है, जिससे इच्छुक आवेदकों को इस पहल से लाभ उठाने के लिए आवश्यक सभी जानकारी मिल सके।

Leave a Comment