SIM Card New Rules:- सिम कार्ड नए नियम: सभी फोन और सिम कार्ड धारक तुरंत ध्यान दें


SIM Card New Rules:- सिम कार्ड नए नियम: सभी फोन और सिम कार्ड धारक तुरंत ध्यान दें भारत में सिम कार्ड संबंधित नियमों के प्रति भारत सरकार अत्यंत सचेत है क्योंकि वर्तमान समय में सिम कार्ड एक बहुत ही आवश्यक वस्तु बन चुकी है। {SIM Card New Rules}सिम कार्ड की सुरक्षा और इसकी सेधमारी को रोकने के लिए समय-समय पर विभिन्न तरह के अपडेट्स और नए नियमों को लागू किया जाता है। इस परिदृश्य को देखते हुए, हाल ही में भारत सरकार ने सिम कार्ड यूजर्स के लिए 2 नए अपडेट्स जारी किए हैं, जिस पर प्रत्येक नागरिक का ध्यान देना आवश्यक है। मोबाइल फोन यूजर्स के लिए ये अपडेट अति महत्वपूर्ण हैं। सिम कार्ड से जुड़े ये नए नियम 1 जुलाई 2024 से देश भर में लागू हो जाएंगे, इसलिए समय रहते इसकी जानकारी होना जरूरी है।

New Update :- 1 लाख रुपये से भी कम कीमत मे बेस्ट बाइक , दमदार Milage के साथ – हीरो एक्सट्रीम 125R का पहला राइड अनुभव

SIM Card New Rules

SIM Card New Rules Hindi

अब सिम पोर्ट करने की प्रक्रिया में 7 दिन का इंतजार समय अनिवार्य होगा, यानी यदि आपने हाल ही में अपना सिम कार्ड बदला है या नया सिम कार्ड जारी कराया है, तो आप अपने मोबाइल नंबर को पोर्ट नहीं कर पाएंगे। इसका मतलब है कि टेलीकॉम नियामक प्राधिकरण ऑफ इंडिया (ट्राई) ने मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी (एमएनपी) के लिए नए नियमों में यह परिवर्तन किया है। ट्राई के अनुसार, सिम स्वैप करने के बाद मोबाइल नंबर को पोर्ट करने की अनुमति नहीं होगी और यह प्रतीक्षा अवधि 7 दिनों तक की होगी।

SIM Card New Rules:- सिम कार्ड का पहला नियम विस्तार से

सिम कार्ड के संदर्भ में दो महत्वपूर्ण शब्दों की परिभाषा को समझना अत्यंत आवश्यक है ताकि नए नियम को सही ढंग से समझा जा सके। पहला शब्द ‘सिम कार्ड पोर्ट’ है, जिसका तात्पर्य है यदि आपके पास JIO, Airtel, VI आदि में से किसी भी टेलीकॉम ऑपरेटर का सिम कार्ड है और वह खराब हो गया है या टूट गया है, तो आप उसी कंपनी के उसी नंबर का नया सिम कार्ड अपने टेलीकॉम ऑपरेटर से प्राप्त कर सकते हैं। इस प्रक्रिया को ‘सिम स्वैपिंग’ कहा जाता है। इस नए नियम के अनुसार, यदि आपने हाल ही में नया सिम कार्ड प्राप्त किया है, तो आप उसे अगले 7 दिनों तक पोर्ट नहीं करा सकते हैं, यानी आप अपने टेलीकॉम ऑपरेटर को बदल नहीं सकेंगे।

इस नियम को लागू करने का मुख्य उद्देश्य ऑनलाइन फ्रॉड और सिम स्वैपिंग के जरिए होने वाले धोखाधड़ी को रोकना है। इसके माध्यम से, टेलीकॉम नियामक प्राधिकरण ऑफ इंडिया (TRAI) ने इन फ्रॉड्स पर अंकुश लगाने के लिए यह विशेष नियम निर्धारित किया है।

  • ब्राउजर मे tafcop.sancharsaathi.gov.in को खोले।
  • अपने मोबाइल नंबर की जानकारी दर्ज करें।
  • कैप्चा कोड डाले।
  • अब आपके फोन नंबर पर एक ओटीपी भेजा जाएगा।
  • ओटीपी को दर्ज करें।
  • इस पेज पर Mobile numbers registered in your name के आगे 1,2,3 नंबर लिखा नजर आएगा।
  • इसी के साथ आपके नाम पर इस्तेमाल होने वाले नंबर 9198xxxx9939 के रूप में नजर आएंगे। जिससे आपको इसकी जानकारी हो जाएगी की कितने नम्बर चल रहे है।

Leave a Comment